Wednesday, November 7, 2012

विदशों में भी हिन्‍दू महासभा ब्‍लॉग की चर्चा


चरमपंथियों के निशाने पर हिन्‍दू महासभा का ब्‍लॉग

डॉ0 संतोष राय
   इस्‍लामिक चरमपंथियों के आंखों में हिन्‍दू महासभा ब्‍लॉग किरकिरी बना हुआ है। वे बार-बार हिन्‍दू महासभा के नेताओं को मारने की धमकी देते हैं, पता पूछते हैं। बहुत से मुस्लिम जेहादी ब्‍लॉग डिलीट करवाने की धमकियां देते हैं। गत माह तो हिन्‍दू महासभा के ब्‍लॉग को डिलीट करवाने में सफल भी हो गये थे, लेकिन जागरूक पाठकों के ध्‍यान की वजह से, गूगल को हिन्‍दू महासभा का पत्र जाने पर गूगल ने इसे 24 घंटे के भीतर ही ब्‍लॉग को चालू कर दिया।

ज्ञात हो कि हिन्‍दू महासभा  ब्‍लॉग (www.abhindumahasabha.blogspot.com)   पर 16 महीनें के अंदर कुल 611 पोस्‍ट डाले गये, जिसमें ज्‍यादा से ज्‍यादा पोस्‍टें इस्‍लामिक जेहाद के खिलाफ है, इस्‍लामिक चरमपंथी इस ब्‍लॉग को इंटरनेट पर फूटी आंखों से भी नही देखना चाहते हैं।

   हिन्‍दू महासभा ब्‍लॉग को  6 दिसंबर, 2012 तक 96, 724 बार क्लिक करके पाठकों द्वारा देखा गया। हिन्‍दू महासभा व नेहरू डॉयनेस्‍टी एक्‍सपोज्‍ड दोनों ब्‍लॉगों के पेज व्‍यु लाखों से उपर आते हैं।

   देश में ही नही विदेशों में भी हिन्‍दू महासभा के ब्‍लॉग को लोगों ने देखा है। अमेरिका में हिन्‍दू महासभा के ब्‍लॉग को 115 बार, इसरायल में 33 बार इसके बाद संयुक्‍त अरब अमीरात, जर्मनी, कनॉडा, हांगाकांग, पाकिस्‍तान, थाइलैंड आदि में हिन्‍दू महासभा के ब्‍लॉग को खूब देखा गया।
 जिसमें कुल 200 से ज्‍यादा कमेंट हैं। 200 के करीब हिन्‍दू राष्‍ट्रवादी  फॉलोअर हैं।
   हिन्‍दू महासभा के दूसरे ब्‍लॉग नेहरू डॉयनेस्‍टी एक्‍सपोज्‍ड( www.nehrudynastyexposed.blogspot.com ब्‍लॉग में कुल 6 महीने में में 51 पोस्‍ट है, पेज व्‍यु 9726, जिसमें 36 फॉलोअर हैं।
  
   इतनी धमकियों के बावजूद भी इस्‍लामिक कुरीतियों के खिलाफ हिन्‍दू महासभा का अभियान जारी है, आशा है कि आप हमारा पूरा साथ व समर्थन करेंगे। 

1 comment:

LALITA kanwar CHAUHAN said...

हर तरफ अधर्म बढ़ गया है और विकास के नाम पर पर्यावरण को जबरदस्त क्षति पहुँचाई जा रही है।
समय पर बारिश का न आना आम बात हो गई है।
दिन-दिन तापमान में बढ़ोतरी होती जा रही है।
जानवरो की संख्या कम हो गई है।
चिड़िया की चहचाहट अब पूरानी बात लगती है।
धार्मिक समारोह के नाम पर अश्लीलता परोसी जाती है।
अब भाई-बहन का रिश्ता केवल रक्षा बन्धन तक ही सिमित हो गया है।
त्योहारो मै कत्लेआम हो रहा है।

इस ब्लॉग को भी देखे- http://anoopmandalsheoganj.blogspot.in/2015/05/blog-post.html?m=1