Tuesday, May 1, 2012

सिंघवी के सेक्‍स सीडी का सच


डॉ0 संतोष राय की कलम से



श्रीमती अनुसूया सलवान दिल्‍ली हाईकोर्ट की वरिष्‍ठ अधिवक्‍ता थी,  जिसकी तीन बेटियां थी, बड़ी बेटी की शादी  हो गयी है बाकि दो बेटियां शादी के लायक हो गयी हैं, इनके कई ट्रस्‍ट भी चलते हैं।  अनुसूया कितने सालों से जज बनने की चाह रख रही थी, यहां तक कि लॉ मीनिस्‍ट्री की ओर से हाईकोर्ट में न्‍यायमूर्ति बनने के लिये इनका नाम भी जा चुका था। लेकिन अब उनके सेक्‍स सीडी के विवाद के चल्‍ते सलवान का न्‍यायधीश बनना उच्‍चतम न्‍यायालय के मुख्‍य न्‍यायधीश पर निर्भर है कि वे उन्‍हें उस पद पर विराजित करते हैं या नहीं।


वहीं दूसरी ओर यह बात उठती है कि आखिर क्‍यों अभिषेक मनु सिंघवी का ड्राइवर उनकी सेक्‍स सीडी बनाया, उसने अपने ही मालिक को दुनिया के सामने क्‍यों  बेपर्दा  कर दिया। विश्‍वस्‍त्र सूत्रों के द्वारा यह ज्ञात हुआ है कि कांग्रेस के पूर्व प्रवक्‍ता  व हाईकोर्ट के वरिष्‍ठ वकील अभिषेक मनु सिंघवी अपने ड्राइवर को सारे मानवता को ताक पर रखकर उससे जबरजस्‍त काम लेते थे। रात के 12,1, 2 बजे तक वो कहीं किसी होटल में किसी महिला के साथ घुसकर अपने सारे कपड़े उतारकर सेक्‍स करते थे। 


कांग्रेसी नेता की इस घिनौनी हरकत से ड्राइवर के साथ-साथ उनकी पत्‍नी काफी परेशान हो गयी थीं, क्‍योंकि अभिषेक द्वारा रात के अंधेरे में किये जाने वाले कुकर्मों को ड्राइवर बहुत पहले ही उनकी पत्‍नी को बता चुका था, जिसके चल्‍ते भूतपूर्व कांग्रेसी प्रवक्‍ता के घर में भारी कलह-कोहराम मचा हुआ था। सिंघवी साहब कई बार इस सेक्‍स मामले पर हंगामें को लेकर अपनी पत्‍नी को काफी प्रताडि़त भी किया। अंत में उनकी पत्‍नी ने अभिषेक से बदला लेने को ठानी और कहा कि मैं क्‍या हूं यह तुम्‍हें बताउंगी। 

अभिषेक मनु सिंघवी की पत्‍नी ने ड्राइवर को भरोसे में लेकर उनके चैंबर में एक खुफिया कैमरा लगवा दिया। अंत में सिंघवी साहब और उनकी तथाकथिति न्‍यायमूर्ति बनने की आस करने वाली अनुसूया के साथ किया गया  सेक्‍स उस सीडी में कैद हो गया।

अभिषेक का ड्राइवर उन दोनों की सेक्‍स सीडी बनाकर उनकी पत्‍नी को दे दिया और उनकी पत्‍नी ने इसे पूरी तरह संशोधित करवाया क्‍योंकि इस सीडी में न्‍यायमूर्ति बनने की आस रखने वाली अनुसूया पूरी तरह नंगी हो गयी थी, जिसे अभिषेक की पत्‍नी ने हटवा दिया, फिर उस सेक्‍स सीडी को उनकी पत्‍नी ने ड्राइवर को दे दिया। 


ध्‍यान रहे कि जब यह विवादित सीडी मीडिया तक पहुंची तो कांग्रेस के तत्‍कालीन प्रवक्‍ता व कद्दावर नेता अभिषेक मनु सिंघवी ने दिल्‍ली हाई कोर्ट की माननीय न्‍यायधीश श्रीमती रेवा खेत्रपाल के आदेश द्वारा इसे मीडिया में दिखाने पर रोक लगवाई, यही माननीय न्‍यायमूर्ति भी कभी दिल्‍ली की सम्‍मानित वरिष्‍ठ अधिवक्‍ता थीं। 



दिल्‍ली के न्‍यायालयों में इस बात की खूब चर्चा है कि आज-कल के समय में  जज बनना कितना मुश्किल और कितना आसान है। अब तो यह भविष्‍य ही बतायेगा कि श्रीमती अनुसूया सलवान भविष्‍य में न्‍यायमूर्ति बनती हैं कि नही।